Option Trading क्या है और CALL और PUT की पूरी जानकारी

Option Trading in Hindi– अगर आप शेयर मार्केट के बारे में जानते हैं तो आपने फ्यूचर एंड ऑप्शन(F&O) ट्रेडिंग का नाम तो सुना ही होगा लेकिन क्या आप जानते हैं की Option Trading क्या है और कैसे हैं आप इसकी मदद से एक ही दिन में अपने पैसे को 2 से 3 गुना भी बना सकते हैं। लेकिन जितना ज्यादा पैसा उतना ज्यादा रिस्क option trade में जितनी जल्दी पैसा बनता है इतनी जल्दी चला भी जाता है। इसीलिए आपका F&O क्या है यह समझना बेहद ही जरूरी है।

ऑप्शन ट्रेडिंग में जैसे आप शेयर बाजार में किसी कंपनी के स्टॉक खरीदते या बेचते हैं ऐसा नहीं होता यह स्टॉक ट्रेडिंग से बिल्कुल अलग है लेकिन एक बार आप इसे समझ गए उसके बाद शायद ही आप स्टॉक में ट्रेडिंग करेंगे क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग जितना रिटर्न शायद ही किसी और तरीके से मिल पाए।

इन्हीं सभी बातों को ध्यान में रखते हुए हमने Hindi Technical के इस लेख में विस्तार में future & options के बारे में बताया है जिसमें आप option trade क्या होता है और option में call और put क्या है किसे buy/sell करे। तो आप इस पोस्ट को नीचे तक ध्यान से पढ़ें इसके बाद आप option के बारे में बहुत कुछ जान जायेंगे।

यह भी पढ़ें: Stock market क्या है

Option Trading क्या है| What is Option trading in Hindi

जैसा कि Option शब्द का मतलब होता है “विकल्प” और trading का मतलब होता है “व्यापार“। तो अगर हम शेयर मार्केट की बात करें तो शेयर बाजार में व्यापार करने के आपके पास दो ही विकल्प हैं या तो खरीदें(BUY) या फिर बेचे(SELL) इसके अलावा तीसरा ऑप्शन नहीं होता।

और यह बात कहना आसान है कि यदि शेयर का मूल्य बढ़ता है तो हम उसे कम मूल्य में खरीद कर अधिक मूल्य में बेच कर कमाई कर सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जब शेयर गिर रहा हो तब भी आप कमाई कर सकते हैं जी हां यही होता है ऑप्शन ट्रेडिंग में। ऑप्शन ट्रेडिंग केवल आप उन स्टॉक या इंडेक्स में कर सकते हैं जो ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए लिस्टेड है।

Option Trading kya hai Call-Put
Option Trading kya hai Call-Put

Option trade में आपके पास यह विकल्प होता है की जब शेयर का price बढ़ रहा होता है तो आप उसे खरीद कर ऊपर भाव में बेच सकते हैं और अब आप यह कहेंगे कि यह तो आम बात है, लेकिन जब शेयर का price गिर रहा होता है तब आप उसे खरीद कर और ज्यादा गिरने पर और मुनाफा कमा सकते हैं यह विकल्प केवल ऑप्शन ट्रेडिंग में उपलब्ध है।

लेकिन ऑप्शन को खरीदना और बेचना थोड़ा अलग होता है इसमें आपको CALL option और PUT option क्या होते हैं जो भी समझना जरूरी है तो चलिए option trading में CALL क्या है और PUT क्या है यह समझ लेते हैं।

CALL option क्या होता है

जब आप यह मान रहे हैं की शेयर का price बढ़ेगा तो आप उस stock का CALL option buy करेंगे। मान लीजिए आप निफ़्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहते हैं और Nifty का मूल्य है ₹16000 और आपको लगता है कि यह ₹16500 जाएगा तो इसके लिए आपको निफ्टी का 16500 का Call Option Buy करना होगा।

निफ्टी जितना 16500 की तरफ बढ़ेगा आपका उतना ज्यादा फायदा होगा। लेकिन इसके विपरीत अगर वह 16000 से नीचे की तरफ गिरने लगा तो आपका नुकसान होगा लेकिन आप इस नुकसान को प्रॉफिट में बदल सकते हैं इसके लिए आपको PUT option को समझना होगा।

PUT option क्या होता है

ऊपर दिए Call option के Nifty के उदाहरण को आगे बढ़ाते हुए समझते हैं कि Put क्या होआ है। तो यदि Nifty 16000 से नीचे गिरने लगे तो आप इस समय 16000 से नीचे कोई भी price (जैसे 15800) का Put option Buy कर सकते हैं ऐसा करने पर जितना निफ्टी नीचे गिरेगा आपको इतना ज्यादा फायदा होने वाला है। यह होता है option trading में put option का कमाल।

उदाहरण के माध्यम से आप समझ गए होंगे कि ऑप्शन ट्रेडिंग में कॉल और पुट ऑप्शन क्या होते हैं तो चलिए अब जान लेते हैं कि call/put कैसे buy करें।

Option Trading में Call और Put कैसे Buy करें

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें जानना चाहते हैं तो दोस्तों स्टॉक ट्रेडिंग की तरह ऑप्शन ट्रेडिंग में आप किसी कंपनी का 1 शेयर नहीं खरीदते बल्कि आपको पूरा LOT खरीदना होता है। LOT में 1 से ज्यादा शेयर एक साथ buy करने होते हैं और LOT में शेयरों की संख्या अलग-अलग होती है।

यदि आप Nifty50 में option trading करना चाहते है तो इसमें 1 LOT में आपको 25 शेयर मिलेंगे और आपको LOT के हिसाब से ही ट्रेडिंग करनी होगी मतलब की 25x (25 के गुणांक में ही आप ऑप्शन खरीद सकते हैं).

Nifty Option खरीदने के लिए अपने डीमेट अकाउंट में जाएं और वहां जैसे आप कोई शेयर सर्च करते हैं वैसे ही Nifty सर्च करें। फिर अपने या ब्रोकर के analysis के बाद Call/PUT जिस price पर खरीदना है आप Option Chain की मदद से खरीद सकते हैं

डीमेट अकाउंट के लिएZerodha में Demat Account कैसे खोले

लेकिन call या put buy करते समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा उसके बाद ही आप option trading करें।

  • Option Trading में दो तरह का Expiry होती है साप्ताहिक(Weekly) और दूसरी होता है हर महीने(Monthly) में।
  • Weekly Expiry प्रत्येक गुरूवार(Thursday) को और Monthly Expiry महीने के अंतिम गुरूवार(Thursday) को होती है।
  • आपने जिस दिन की Expiry का option buy किया होगा उस date को आपके premium zero हो जाता है, मतलब कि वह शेयर की वैलिडिटी उसी दिन तक थी तो आपको उसे एक्सपायरी से पहले बेचना होता है।
  • ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए आपको पूरे शेयर का मूल्य नहीं देना होता बल्कि प्रत्येक option का premium होता है आपको उसे चुकाना होता है।

Option में Premium क्या होता है

Option प्रीमियम वो रकम है जो कि ऑप्शन खरीदते समय आप ऑप्शन के बिकवाल/राइटर को अदा करते है। प्रीमियम के बदले में ऑप्शन के खरीदार को यह अधिकार मिलता है कि वो expiry के दिन या उससे पहले ही अपने ऑप्शन को settle(बेच) कर सके और जो निश्चित स्ट्राइक प्राइस तय किया गया था उस पर खरीद सके।

आसान भाषा में समझे तो प्रीमियम एक तरह का एग्रीमेंट होता है जिसे आप बयाना भी कह सकते हैं जैसे आप कोई वस्तु भविष्य में खरीदने वाले हैं और आपने कुछ बयाना देकर उसे बुक कर लिया है चलिए उदाहरण से समझते हैं।

उदाहरण: राम, श्याम से कोई जमीन लेना चाहता है और अभी जमीन की कीमत ₹100000 है लेकिन राम के पास अभी पैसे नहीं है तो वह श्याम को ₹20000 प्रीमियम देखकर एग्रीमेंट कर लेता है और उसे बोल देता है कि गुरुवार तक वह उससे जमीन ले लेगा।

अब यदि गुरुवार तक उस जमीन के रेट ₹150000 हो जाते हैं तब भी राम उसे केवल ₹80000 ही देगा लेकिन बदले में उसे ₹50000 का फायदा हो जाएगा। तो ऐसे में ₹20000 देकर राम ने ₹50000 का फायदा कर लिया यही होता है ऑप्शन ट्रेडिंग का कमाल जिसमें प्रीमियम एक प्रमुख भागीदारी निभाता है।

दोस्तों आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप आसानी से समझ गए होंगे कि Option trading kya hai ( Option trading in hindi) और Option trading में Call/Put क्या होता है साथ ही हमने यह भी बताया कि ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें। हमारी राय हो रहेगी की आप सोच समझकर ही ऑप्शन ट्रेडिंग करें क्योंकि इसमें जितना ज्यादा मुनाफा है उतनी तेजी से आपको नुकसान भी होता है। अगर आपका कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट जरूर करें।

यह भी पढ़ें:

पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अन्य के साथ शेयर करें जिससे कि आपके रिश्तेदार और अपने मित्रों में भी जागरूकता बनी रहे साथ ही सबको लाभ होगा भी होगा। धन्यवाद

Satyam Panda

मैं इस वेबसाइट का Founder और Chief Editor हूं। Education की बात करें तो मैं इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हूं और बतौर इंजीनियर कार्यरत हूँ। साथ ही पार्ट टाइम मुझे ब्लॉग लिखना और टेक्नोलॉजी के साथ अपडेट रहना पसंद है जिसे में इस ब्लॉग (Hinditechnical.in) के माध्यम से आपके साथ साझा करता हूँ।

Leave a Reply