NIFTY: निफ़्टी क्या है | Nifty कैसे काम करता है | Nifty in Hindi

दोस्तों यदि आप ढूंढ रहे हैं कि निफ्टी क्या है (Nifty In Hindi) तो आज Hindi Technical के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि nifty kya hota hai. इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें लास्ट तक आप अच्छे से समझ जाएंगे कि NIFTY क्या होता है और कैसे चलता है

हमने अक्सर लोगों और न्यूज़ चैनल में सुना होगा कि आज NIFTY इतने पॉइंट बढ़ गया है या घट गया है। तो अक्सर हमारे दिमाग में आता होगा कि निफ्टी के बढ़ने या घटने से share market पर क्या प्रभाव पड़ता है और NIFTY कैसे मार्केट की चाल को दर्शाता है। उसके लिए आपको nifty के बारे में अच्छे से जाना होगा की आखिर निफ्टी का मतलब क्या होता है

निफ्टी क्या होता है

सबसे पहले जान लेते हैं कि NIFTY की फुल फॉर्म क्या है निफ़्टी 2 शब्दों नेशनल और फिफ्टी से मिलकर बना हुआ है। वैसे NIFTY का फुल फॉर्म होता है National Stock Exchange Fifty. निफ़्टी NSE (National Stock Exchange of India) में उपलब्ध एक महत्वपूर्ण पैरामीटर है जो NSE का Stock Index भी है जिसमे आप INDIA में NSE में लिस्टेड TOP 50 shares की चाल को देख सकते हैं।

Nifty kya hota hai kaise kaam karta hai
Nifty kya hota hai kaise kaam karta hai

NSE के अलावा BSE (Bombay stock exchange) भी होता है जिसमें Sensex, stock Index का काम करता है। अगर आप जानना चाहते हैं कि BSE Sensex क्या है तो वह भी जान सकता है। साथ ही निफ्टी क्या होता है यह जानने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि Stock market: शेयर मार्किट क्या है

Nifty 50 क्या होता है

Nifty50 एक तरह से निफ़्टी स्टॉक इंडेक्स (nifty Stock Index) है साथ ही क्योंकि इसमें भारत के विभिन्न 12 sectors की 50 कंपनियों को शामिल किया गया है इसीलिए लोग इसे Nifty 50 के नाम से भी जानते हैं। इसमें लगभग भारत के सभी क्षेत्रों जैसे मेटल, ऑटोमोबाइल, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, इंफ्रास्ट्रक्चर बैंक इत्यादि में से प्रमुख कंपनियों को शामिल किया गया है तो आप इसकी nifty 50 क्या है जानकर इसकी मदद से मार्केट की चाल को आसानी से एक ही इंडेक्स के माध्यम से देख सकते हैं।

आप nifty50 के अलावा nifty100 (इसे nifty next 50 भी कहा जाता है) और nifty500 भी stock index में शामिल किए गए हैं जिसमें की टॉप 100 और टॉप 500 कंपनियों को शामिल किया गया है क्योंकि जो बहुत ही बड़े इंडेक्स हैं इसीलिए इनकी चाल को समझ ना इतना आसान नहीं जितना कि nifty50 की चाल समझना होता है।

Nifty 50 में शामिल कंपनियां

निफ्टी के nifty50 इंडेक्स में शामिल होने के लिए पिछले छह महीने के औसतन डेली टर्नओवर व डेली फुल मार्केट कैपिटलाइजेशन के आंकड़ों को ध्यान में रखा जाता है। ” इसीलिए nifty50 में शामिल कंपनियों की लिस्ट बदलती रहती है लेकिन कुछ कंपनियां रिलायंस जैसी भी है जो हमेशा nifty50 के चार्ट में शामिल रहती हैं।

फिर भी इस समय जब आप यह पोस्ट पढ़ रहे हैं यदि आप NIFTY 50 companies list देखना चाहते हैं तो NSE की आधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते हैं। क्योंकि एनएससी की वेबसाइट पर nifty का आंकड़ा हमेशा बदलता रहता है और आपको updated list भी मिल जाएगी।

यदि आप निफ्टी में व्यापार करना चाहते हैं तो आप zerodha में अपना अकाउंट खोल सकते हैं जानिए zerodha में account कैसे खोले

निफ़्टी कैसे काम करता है

यदि आप पोस्ट को ऊपर से पढ़ते आ रहे हैं तो थोड़ा बहुत निफ्टी के बारे में आप जान ही गए होंगे लेकिन अब बात आती है कि इसे स्टॉक इंडेक्स क्यों कहा जाता है और आखिर निफ्टी काम कैसे करता है। निफ्टी के काम करने से हमारा मतलब है कि निफ्टी कैसे बढ़ता है और निफ्टी कैसे कम होता है इन दोनों के बारे में ही हम बात करने वाले हैं।

NIFTY के कामकाज में Nifty में शामिल 50 कंपनियां प्रमुख किरदार निभाती हैं। हमारा मतलब हुआ कि यदि 50 में से 40 कंपनियां अच्छा परफॉर्म करती हैं तो निफ्टी की चाल भी आपको अच्छी देखने को मिलेगी। उदाहरण के साथ एक-एक करके समझ लेते हैं कि निफ्टी कैसे काम करता है।

निफ्टी कैसे बढ़ता है– कंपनियां NSE में listed है और यदि निफ्टी में शामिल है मान लीजिए उनमें से 35 कंपनियां ऐसी हैं जिनके रिजल्ट अच्छे हैं या फिर अच्छा काम काज कर रहे हैं तो तो लोग उन पर भरोसा करेंगे और इन्वेस्ट भी करेंगे जिस वजह से Nifty की चाल भी आपको positive देखने को मिलेगी। इसका उल्टा,

निफ्टी कैसे कम होता है– यदि total 50 कंपनियों में से कुछ ही कंपनियां हैं जो शेयर मार्केट में अच्छा परफॉर्म कर रहे हैं लेकिन ज्यादातर कंपनियां ऐसी हैं जो नेगेटिव साइड में जा रहे हैं तो आपको nifty50 में भी गिरावट देखने को मिलेगी।

निफ़्टी और अर्थव्यवस्था का संबंध क्या है

देश की अर्थव्यवस्था का सीधा संबंध है इनकम टैक्स से और आप जानते हैं कि सबसे ज्यादा टैक्स बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा ही दिया जाता है ऐसे में यदि हमारे देश की कंपनियां अधिक टर्नओवर जनरेट करेंगी तो सीधी सी बात है टैक्स भी ज्यादा इकट्ठा होगा। जो आपको हमारे देश की अर्थव्यवस्था(economy) को बढ़ाने में सहायक है। NSE में लगभग 6800 से ज्यादा कंपनियां listed है और उन 6800 में से भी 50 ऐसी टॉप कंपनियों को निफ्टी में शामिल किया जाता है कुछ समय से बेहद ही शानदार capital gain कर रही हैं।

तो ऐसे में यदि आपको निफ्टी बढ़ता हुआ दिखेगा इसका सीधा सा मतलब है कि देश की बड़ी कंपनियां अच्छा व्यापार कर रही हैं जिससे उन कंपनियों के साथ-साथ देश को भी फायदा होने वाला है इसीलिए निफ्टी को भारत की अर्थव्यवस्था के साथ देखा जाता है।

Nifty से संबंधित FAQ’s

NIFTY और सेंसेक्स में से कौन बेहतर है?

दोनों अलग-अलग stock exchanges (निफ्टी NSE और सेंसेक्स BSE) के Stock Index होते हैं। दोनों अलग अलग है और इनमें से बेहतर कौन है या नहीं कहा जा सकता क्योंकि दोनों अलग-अलग हैं और दोनों ही अपने में बेहतर है।

Nifty कैसे खरीदें?

निफ़्टी को खरीदने के लिए आपको किसी भी ब्रोकर में अकाउंट खोल सकते हैं जैसे कि जीरोधा, एंजल ब्रोकिंग और upstocks.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) क्या है?

यह एक स्टॉक एक्सचेंज है। यह मुंबई में स्थित है जिसकी स्थापना 1992 में हुई थी। यही नहीं यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज भी है।

Nifty में कितनी कंपनी है?

निफ्टी में NSE में listed TOP50 कंपनियां शामिल होती हैं और यह कंपनियों की लिस्ट लगातार बदलती रहती है।

दोस्तों आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप आसानी से समझ गए होंगे कि निफ़्टी क्या है (Nifty in hindi) और NIFTY कैसे काम करता है. इसके बाद भी अगर आपका कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट करें और अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अन्य के साथ शेयर करें धन्यवाद

Satyam Panda

मैं इस वेबसाइट का Founder और Chief Editor हूं। Education की बात करें तो मैं इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हूं और बतौर इंजीनियर कार्यरत हूँ। साथ ही पार्ट टाइम मुझे ब्लॉग लिखना और टेक्नोलॉजी के साथ अपडेट रहना पसंद है जिसे में इस ब्लॉग (Hinditechnical.in) के माध्यम से आपके साथ साझा करता हूँ।

Leave a Reply