Govt. PPF Account क्या है- ब्याज दर, फायदे और कैसे करें निवेश पूरी जानकारी

PPF account in Hindi– आजकल हमें अपने पैसे को इन्वेस्ट करने के लिए बाजार में बहुत सारे विकल्प दिखाई देते हैं जो हमें समय अनुसार अलग-अलग रिटर्न देने की गारंटी देते हैं लेकिन सब से अलग और सुरक्षित है PPF(पीपीएफ)। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि PPF Account भारत सरकार द्वारा संचालित किया जाता है ना कि किसी बैंक या संस्था द्वारा इसीलिए इसमें आपका पैसा जिंदगी भर सुरक्षित रहता है।

सुरक्षा के साथ-साथ पीपीएफ में आपको कई अन्य फायदे भी मिलते हैं जिसमें से एक है रिटायरमेंट प्लान यानी कि आप पीपीएफ अकाउंट में हर महीने(monthly) या फिर एकमुश्त(lumpsum) पैसे जमा कर अपने बुढ़ापे को सुरक्षित कर सकते हैं इसके अलावा पीपीएफ में आपको अन्य उपलब्ध स्कीम से ज्यादा रिटर्न भी मिलता है।

हमारे इस ब्लॉग Hindi technical में पीपीएफ के बारे में पूरी जानकारी नीचे दी गई है लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें जिससे आप PPF Account क्या होता है अच्छे से समझ जाएंगे। चलिए विस्तार से जानते हैं पीपीएफ ब्याज दर क्या है और इससे जुड़े फायदे/नुकसान के बारे में पूरी जानकारी।

Govt. PPF Account क्या है | What is PPF account in hindi

PPF भारत में प्रचलित सबसे लोकप्रिय Saving schemes(बचत योजनाओं) में से एक है। चूँकि इस योजना को भारतीय केंद्र सरकार द्वारा खासकर छोटे निवेशकों को ध्यान में रखकर बनाया गया है तो इस योजना में निवेश किये गए पैसे व रिटर्न सुरक्षित व गारंटीड होते हैं।

ppf account kya hota hai
ppf account kya hota hai

PPF की फुल फॉर्म

full form of PPF– यह तीन शब्दों से मिलकर बना है P-Public, P-Provident और F-Fund जिसे अंग्रेजी में “Public Provident Fund“(पब्लिक प्रोविडेंट फंड) कहते हैं। PPF की फुल फॉर्म हिंदी में “सामान्य भविष्य निधि” होती है। जो आम जनता के लिए निवेश का सरल और सुरक्षित उपाय है।

PPF के फायदे- Benefits of PPF account in Hindi

  • पीपीएफ अकाउंट के फायदे की बात करें तो सबसे बड़ा फायदा है अकाउंट की सेफ्टी क्योंकि PPF Scheme में इन्वेस्मेंट में कभी घाटा नहीं हो सकता।
  • इस अकाउंट में आपको आपका पैसा और ब्याज मिलने की 100% गारंटी है।
  • आपका पैसा सीधे सरकार के खाते में जाता है जहां बैंक एक केवल पैसे कलेक्ट करने का माध्यम है।
  • पीपीएफ अकाउंट का इंटरेस्ट रेट कभी भी मार्केट रेट से कम नहीं होता।
  • पीपीएफ में पैसा जमा करने के लिए फिक्स अमाउंट की आवश्यकता नहीं आपके पास जितना पैसा है और जिस समय उपलब्ध है आप अपने पीपीएफ अकाउंट में डाल सकते हैं क्योंकि यह अकाउंट पूरी तरह से फ्लैक्सिबल है।
  • यह अकाउंट आप जन्म से लेकर बुढ़ापे तक चला सकते हैं और जब चाहे इस अकाउंट में पैसे जमा कर सकते हैं।
  • आप अपने पीपीएफ अकाउंट पर कुछ समय बाद लोन भी ले सकते हैं।
  • अगर आपको पैसों की ज्यादा जरूरत है तो आप नियमानुसार बिना किसी चार्ज के अपना पीपीएफ अकाउंट बंद भी कर सकते हैं।
  • पीपीएफ अकाउंट में मिलने वाले ब्याज पर किसी तरह का टैक्स नहीं लगता साथ ही आपकी अन्य इनकम पर भी टैक्स की छूट दी जाती है।
  • भविष्य में पीपीएफ अकाउंट से पैसा निकालने पर किसी भी तरह का टैक्स नहीं लिया जाता आपके द्वारा जमा की गई राशि और ब्याज पूरी तरह से आपको दे दिया जाता है।

PPF Account के लिए योग्यता- Eligibility for PPF account

  • पीपीएफ का खाता किसी भी उम्र का व्यक्ति जो भारत में रहता हो खुलवा सकता है(18 साल से कम उम्र के बच्चों का पीपीएफ अकाउंट माता पिता के साथ खुलेगा)
  • एक व्यक्ति के नाम पर केवल एक ही पीपीएफ अकाउंट बन सकता है।
  • पीपीएफ खाते में हर साल कम से कम ₹500 जमा करना अनिवार्य है और ज्यादा से ज्यादा ₹150000 ही आप जमा कर सकते हैं।
  • आप कम से कम 15 साल की अवधि के लिए पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं लेकिन उसके बाद अगर आप चाहे तो उसे 5-5 साल करके आगे बढ़ा सकते हैं।

PPF खाता खोलने के लिए डाक्यूमेंट्स

यदि आप पीपीएफ क्या होता है और इस अकाउंट से जुड़े फायदे के बारे में जान गए हैं और अपना पीपीएफ अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको यह जानना जरूरी है कि पीपीएफ अकाउंट खुलवाने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। चलिए जान लेते हैं।

  • PPF खाता खोलने का फॉर्म- आपको फॉर्म A की आवश्यकता होगी जो किसी भी बैंक से प्राप्त किया जा सकता है जो PPF खाता खोलने के लिए आवश्यक है या फिर यहां से डाउनलोड करें- PPF form A download
  • KYC डाक्यूमेंट्स– आधार कार्ड, वोटर आईडी, या ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि।
  • ऐड्रेस प्रूफ– आपका एड्रेस वेरीफाई करने के लिए
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • अकाउंट नॉमिनी फॉर्म– इसके लिए आपको फॉर्म E चाहिए होगा यह फॉर्म भी आप किसी भी बैंक से प्राप्त कर सकते हैं या फिर यहां से डाउनलोड करें- PPF from E download

यह भी पढ़ें: Mutual Fund क्या है कैसे करे निवेश पूरी जानकारी

पीपीएफ अकाउंट कैसे खोलें- How to open PPF account in hindi

जैसा कि हमने आपको बताया पीपीएफ अकाउंट का पैसा सीधे सरकार के खाते में जमा होता है लेकिन हम सीधे पैसा नहीं जमा कर सकते इसीलिए सरकार द्वारा विभिन्न बैंकों और पोस्ट ऑफिस को बिचौलिए के रूप में सरकार द्वारा नियुक्त किया गया है। तो आप केवल मान्यता प्राप्त बैंक से ही पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।

पब्लिक सेक्टर बैंक के अलावा कुछ प्राइवेट बैंकों को भी पीपीएफ अकाउंट खोलने की मान्यता सरकार द्वारा दी गई है। हम नीचे उन सारे बैंकों की लिस्ट दे रहे हैं जिनमें जाकर आप अपना पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।

  1. इंडियन ओवरसीज़ बैंक
  2. एक्सिस बैंक
  3. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  4. IDBI बैंक
  5. ICICI बैंक
  6. बैंक ऑफ बड़ौदा
  7. पंजाब नेश्नल बैंक
  8. कॉर्पोरेशन बैंक
  9. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  10. बैंक ऑफ इंडिया
  11. स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर
  12. स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  13. इलाहाबाद बैंक
  14. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  15. केनरा बैंक
  16. यूनियन बैंक
  17. ऑफ इंडिया
  18. इंडियन बैंक
  19. यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  20. देना बैंक
  21. विजया बैंक
  22. बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  23. स्टेट बैंक ऑफ पटियाला
  24. स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर
  25. स्टेट बैंक ऑफ मैसूर

PPF अकाउंट को बंद कैसे करें

यदि आप अपना पीपीएफ अकाउंट खुलवा लेते हैं और उसे बंद करवाना चाहते हैं तो आप 5 वर्ष बाद ऐसा कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको कोई खास वजह देनी होगी। जैसे कि अगर आपको या आपके परिवार में कोई खतरनाक बीमारी की चपेट में हो जिसके लिए आपको पैसों की आवश्यकता है। इस प्रकार केवल महत्वपूर्ण कारणों के साथ आप दस्तावेज को जमा कर अपना पीपीएफ अकाउंट बंद करवा सकते हैं।

लेकिन किसी कारणवश आपको पैसों की जरूरत है और आपका कुछ पैसों में काम चल जाएगा तो आप अपने पीपीएफ अकाउंट पर लोन भी ले सकते हैं चलिए जानते हैं ppf account पर लोन कैसे लें

यह भी पढ़ें: Mutual Fund SIP क्या है कैसे करे पूरी जानकारी

पीपीएफ account पर लोन कैसे ले

आप अकाउंट खुलवाने के 3 साल के बाद से लेकर अगले 6 साल तक अपने पीपीएफ अकाउंट पर लोन ले सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा चलिए जान लेते हैं।

  • आपको केवल उतना राशि का ही लोन दिया जाएगा जितना आपके द्वारा पहले 2 साल में जमा हुए राशि का 25% होगा।
  • पीपीएफ अकाउंट में लिए जाने वाले लोन पर आपको मार्केट में चल रहे ब्याज प्रतिशत से 2% ज्यादा प्याज देना होता है उदाहरण के लिए यदि नॉर्मल ब्याज दर 8% है तो पीपीएफ से लोन लेने पर आपको 10% ब्याज देना होगा।
  • जबाब लोन का भुगतान करेंगे तो EMI के साथ ब्याज नहीं लिया जाता है जब आप मूल राशि का भुगतान कर लेते हैं उसके 2 महीने के अंदर आपको ब्याज का भुगतान करना होता है।
  • यदि आप समय से ब्याज का भुगतान नहीं करते तो आपको अतिरिक्त 6% ब्याज भी देना पड़ सकता है।

इन सब बातों को ध्यान में रखकर ही लोन ले और लोन लेने के लिए आपको बैंक से फॉर्म डी लेना होगा और उसमें अपने पीपीएफ अकाउंट से संबंधित डिटेल और लोन ली जाने वाली राशि के बारे में जानकारी देनी होगी।

दोस्तों आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप आसानी से समझ गए होंगे कि PPF अकाउंट क्या होता है (ppf account in hindi) साथ ही हम ने पीपीएफ अकाउंट से होने वाले फायदे और कैसे आप पीपीएफ अकाउंट खोलें यह भी बताया है। अगर आपका कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट जरूर करें।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अन्य के साथ शेयर करें जिससे कि आपके रिश्तेदार और अपने मित्रों में को भी जागरूकता बनी रहे साथ ही सबको बहुत लाभ होगा भी होगा। धन्यवाद

Satyam Panda

मैं इस वेबसाइट का Founder और Chief Editor हूं। Education की बात करें तो मैं इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हूं और बतौर इंजीनियर कार्यरत हूँ। साथ ही पार्ट टाइम मुझे ब्लॉग लिखना और टेक्नोलॉजी के साथ अपडेट रहना पसंद है जिसे में इस ब्लॉग (Hinditechnical.in) के माध्यम से आपके साथ साझा करता हूँ।

Leave a Reply