BSE: बीएसई क्या है | BSE का सूचकांक क्या है | BSE in Hindi

BSE kya hai- दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं तो आपको यह जानना जरूरी है कि बीएसई क्या है क्योंकि BSE भारत का ही नहीं बल्कि एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है। तो आज हम hindi technical इस पोस्ट में सरल भाषा में विस्तार से बताएंगे कि BSE kya hai और BSE का सूचकांक(Stock Index) क्या है, क्योंकि बीएसई क्या होता है यह जानना आपके लिए बेहद जरूरी है यदि आप शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हैं तो।

भारतीय शेयर बाजार में दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज में से एक है बीएसई जिस वजह से भारत के शेयर बाजार की पहुंच और पहचान विदेशों तक हुई। BSE के अलावा दूसरा स्टॉक एक्सचेंज है NSE जो शेयर बाजार को डिजिटल तरीके से सबके सामने लाया था। यदि आप जानना चाहते हैं NSE क्या है तो आप हमारे ब्लॉक में शेयर मार्केट से जुड़ी सारी जानकारी हिंदी में जान सकते हैं।

वह कहते हैं ना कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है ठीक उसी प्रकार आप भी जानेंगे कि बीएसई की शुरुआत कैसे हुई क्योंकि बीएसई ने लोगों की शेयर बाजार की यात्रा में प्रमुख योगदान दिया है। तो चलिए बीएसई की फुल फॉर्म क्या है से शुरू करते हुए BSE क्या है जानते हैं।

बीएसई की फुल फॉर्म क्या है (Full form of BSE)

Full form of BSE- BSE 3 शब्दों से मिलकर बना है B- Bombay (इसे बदलकर आप मुंबई कर दिया गया है) S- Stock और E- Exchange, यानी कि Mumbai Stock Exchange (मुंबई स्टॉक एक्सचेंज). जबकि सबसे पहले इसका नाम नेटिव शेयर एंड स्टॉक ब्रोकर एसोसिएशन हुआ करता था जिसे बदलकर अब मुंबई स्टॉक एक्सचेंज कर दिया गया।

bse kya hai in hindi
bse kya hai in hindi

BSE क्या है | Share Market BSE in Hindi

BSE kya hai- भारत और एशिया का सबसे पुराना stock market exchange मुंबई स्टॉक एक्सचेंज है। जिसकी नींव मुंबई में 1875 में रखी गई थी साथ ही एक्सचेंज अब भारत के 417 शहरों तक पहुंच चुका है। भारतीय शेयर बाज़ार के दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंजों में मुंबई स्टॉक एक्सचेंज एक है जबकि दूसरा एक्सचेंज नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) है।

एशिया के सबसे पुराने और भारत के प्रथम स्टॉक एक्सचेंज के रूप में उभरने के बाद BSE ने देश और विश्व में कई उपलब्धियां हासिल की। बीएसई को लगभग अब 150 वर्ष होने जा रहे हैं लेकिन स्थापना के बाद से ही इस में लगातार बदलाव होते आ रहे हैं और अब यह दुनिया का एक महत्वपूर्ण स्टॉक एक्सचेंज बनकर खड़ा हुआ है। क्या आपको पता है बीएसई दुनिया के स्टॉक एक्सचेंज की लिस्ट में दसवें नंबर पर आता है।

जब भारत में अंग्रेजों का राज हुआ करता था ता अंग्रेजों के जमाने में बने इस स्टॉक एक्सचेंज का इतिहास बेहद ही रोमांचक हैपोस्ट को अच्छी तरह से पढ़ें तितली अब जान लेते हैं कि बीएसई की शुरुआत कैसे हुई।

बीएसई की स्थापना कैसे हुई

शुरुआती समय में शेयर मार्केट के लिए लोगों में उतनी उत्सुकता नहीं थी इसकी वजह थी बहुत कम ब्रोकरों का होना और शेयर बाजार के लिए एक निश्चित जगह का ना होना। इस वजह से शेयर मार्केट के दलालों ने सर्वप्रथम 1868 और 1873 एसोसिएशन की रचना की साथ ही 1874 में इन दलालों ने नियमित रूप से कारोबार करने के लिए एक स्थल की खोज की जो कि आज तक दलाल स्ट्रीट (Horniman Circle Gardens) के नाम से प्रसिद्ध है।

[su-quote]क्या आपको पता है सबसे पहले शेयर मार्केट में शेयर दलाल 1840 में एक वट वृक्ष के नीचे खड़े होकर शेयरों की खरीद-बिक्री करते थे।[/su_quote]

इस तरह जुलाई 1875 में मात्र 318 व्यक्तियों ने मिलकर केवल ₹1 के प्रवेश शुल्क के साथ मुंबई की शेयर बाजार की संस्था का गठन किया। एसोसिएशन के मेंबर ने यो यो निश्चित किया कि सभी सदस्यों के उपयोग के लिए एक निश्चित ऑल या जगह का निर्माण किया जाना चाहिए। 3 दिसम्बर 1887 को शेयर दलालों ने इस एसोसिएशन को एक नाम दिया `दि नेटिव एंड स्टॉक ब्रोकर्स एसोसिएशन‘ जिसे आप बदल कर बीएसई कर दिया गया है।

जिसके फल स्वरूप जैसा कि आप देख पा रहे हैं आज के Mumbai stock exchange (बीएसई) विश्व प्रसिद्ध स्टॉक एक्सचेंज के रूप में आपके सामने खड़ा है।

इस प्रकार से एक वृक्ष के नीचे से आज हम पूरी तरह से डिजिटल रूप में स्टॉक एक्सचेंज का इस्तेमाल कर रहे हैं।

यह भी पढ़े: शेयर मार्किट क्या है | share bazar में क्या होता है

बीएसई का सूचकांक क्या है

अगर आप शेयर मार्केट के बारे में जानते हैं तो आपने सेंसेक्स के बारे में सुना होगा, जी हां सेंसेक्स ही बीएसई का सूचकांक है जिसे BSE sansex भी कहा जाता है BSE Sansex stock index, बीएसई में 6000 से भी ज्यादा कंपनियां लिस्टेड है जिनमें से Sansex 30 में टॉप 30 कंपनियां शामिल है। सेंसेक्स की चाल से आप मार्केट में हो रहे कारोबार का अनुमान लगा सकते हैं।

अगर आप विस्तार में जानना चाहते हैं तो जाने की सेंसेक्स क्या है और यह कैसे काम करता है। बीएसई के इंडेक्स सेंसेक्स की शुरुआत 1986 में हुई थी। जिसके बाद से ही इस में लगातार कंपनियां शामिल होते जा रहे हैं।

बीएसई कैसे काम करता है

जैसे कि आप जान गए होंगे BSE kya hai तो आप आपको यह जानना भी जरूरी है कि आखिर बीएसई कैसे काम करता है। जैसा कि आपने ऊपर पड़ा शुरुआती समय में बीएसई में लेनदेन कागजी माध्यम से हुआ करता था जिसमें 4 से 6 महीने का वक्त भी लग जाता था। लेकिन बाद में जब NSE आया जो पूर्ण रूप से डिजिटल था और कंप्यूटर और स्क्रीन का इस्तेमाल शेयर बाजार में किया करता था।

NSE(एनएसई) के आगमन से BSE(बीएसई) से लोगों का रुझान कम होने लगा क्योंकि एनएसई में कारोबार करना आसान था। अंत में भारतीय सरकार द्वारा कारोबारियों की सुरक्षा के लिए SEBI का गठन किया गया शुरुआत में बीएससी ने सेबी के नियमों को नकारा लेकिन अंत में 1992 में BSE भी SEBI के अधीन हो गया।

BSE के फायदे क्या है

  • देश और विश्व में सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज होने के साथ यह एक विश्वसनीय स्टॉक एक्सचेंज भी है।
  • बीएसई सेबी के अंतर्गत आता है जो कारोबारियों को सुरक्षा प्रदान करता है।
  • बीएसई का बेंचमार्क सेंसेक्स है जो मार्केट की चाल को दर्शाता है।
  • BSE विश्व में दसवें नंबर पर आता है।
  • बीएससी का कारोबार बेहद ही बड़ा है जिसका मार्केट कैपिटल 3.6 ट्रिलियन यूएस डॉलर है।

BSE में शेयर कैसे खरीदें

शेयर बाजार में बीएसई में शेयर खरीदने के लिए आपको इंटरनेट पर उपलब्ध किसी भी ब्रोकर के डिमैट अकाउंट खुलवा लेना है हम और हमारी टीम जोधा का इस्तेमाल करते हैं अगर आप जानना चाहते हैं की Zerodha में Demat Account कैसे खोले और उसके बाद आप बीएसई में लिस्टेड किसी भी कंपनी के शेयरों को खरीद बेच कर मुनाफा कमा सकते हैं।

बीएसई से संबंधित FAQ’s

भारत में कितने स्टॉक एक्सचेंज है?

भारत में प्रमुख दो स्टॉक एक्सचेंज है बीएसई(मुंबई स्टॉक एक्सचेंज) और एनएसई(नेशनल स्टॉक एक्सचेंज)।

भारत का सबसे पुराना और सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज कौन सा है?

बीएसई(BSE) भारत का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है जिसकी स्थापना 1875 में हुई थी। साथ ही भारत का सबसे बड़ा और दुनिया का 10th नंबर पर आने वाला स्टॉक एक्सचेंज है।

बीएसई का सूचकांक क्या है

बीएसई index यानी कि BSE सूचकांक है सेंसेक्स। जिसे बीएसई सेंसेक्स भी कहा जाता है।

बीएसई का मार्केट कैपिटल कितना है

Conclusion:

तो दोस्तों इस तरह से आपने Full form of BSE से लेकर बीएसई क्या है (BSE kya hai) पूर्ण रूप से जाना। हमने यह भी बताया कि कैसे आप बीएसई में शामिल शेयरों को बीएससी के सूचकांक के माध्यम से देख सकते हैं। BSE Sensex जो मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का इंडेक्स है और आज देश दुनिया में भारत की अर्थव्यवस्था को दर्शाता है।

दोस्तों आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप आसानी से समझ गए होंगे कि BSE क्या है (BSE in hindi) और साथ ही हम ने बताया कि बीएसई कैसे काम करता है। अगर आपका कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट करें और अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अन्य के साथ शेयर करें जिससे कि आपके रिश्तेदार और अपने मित्रों में को भी जागरूकता बनी रहे साथ ही सबको बहुत लाभ होगा भी होगा। धन्यवाद

Leave a Comment